Jet Airways now Flying Just 40 Air Planes

जेट एयरवेज के अब सिर्फ 40 प्लेन उड़ रहे हैं, आगे और घट सकती है यह संख्या: DGCA

Jet Airways now Flying Just 40 Air Planes, this number can be further reduced: DGCA
It seems to have a very bad effect on Jet Airways operating on the financial crisis. Directorate General of Civil Aviation (DGCA), Civil Aviation Directorate, said on Tuesday that only 40 Airlines of Jet Airways are Flying.


According to the DGCA, currently only Jet Airways Airports are filling just 40
DGCA said that in the coming weeks, the number of Jet's operational Aircraft could be reduced
Jet's original fleet had 119 Aircraft, of which only one-third are operational
Jet Airways has a debt of more than $ 1 billion, which is about Rs 7,000 crore


It seems to have a very bad effect on Jet Airways operating on the financial crisis. The Directorate General of Civil Aviation (DGCA), i.e. Civil Aviation Directorate, said on Tuesday that only 40 Aircraft of Jet Airways are Flying, which is just one third of the original capacity 120 Aircraft for its fleet. Under the burden of debt, the Airline is now trying to deal with the debtors and its big partner Etihad Airways, with a rescue deal.

DGCA said in a statement that the situation is serious and in the coming weeks, Jet may reduce the number of planes Flying in its fleet.
Jet Airways, which struggled with cash crunch, had on Monday stopped its 4 more Aircraft from Flying.
Because of not paying rent for leasing Aircraft, now only 40 of its Aircraft are Flying.
Because of this, all his Flights have been canceled.

Jet Airways has plunged more than $ 1 Billion (about Rs 6,890 crore) in debt.
Because of this, he is unable to pay timely payments to banks, suppliers, pilots.
Some of them have eliminated the lease deal with the Airline.



The Airline has stopped operating 65 percent of its 120 Aircraft.
Jet Airways had informed BSE that due to non payment of the arrears of the lessee, he has stopped operating his four Aircraft.

The finance ministry had asked Jet Airways to provide regular information to the banks under the leadership of Bank of India regarding the state of financial status. In recent months, banks have given weekly information about revival plans and have also sought advice from the government.
 A lender of Jet said, "Senior officials of the Finance Ministry want regular updates on this issue."

In a rare case of saving a private sector company from bankruptcy, the government has asked banks to convert loans from equity into equity and take a share in Jet. However, sources said that this would be temporary and after the improvement of Jet's position the lenders could sell the stake.
The company has been burdened with debt of more than $ 1 billion and is continuously canceling Flights.

Emergency Meeting  

Union Civil Aviation Minister Suresh Prabhu on Tuesday asked senior officials to convene an emergency meeting on Jet Airways's issue of grounding its grounds. The minister tweeted, "The secretary of the MOCA has instructed to convene an emergency meeting with Jet Airways to set up Aircraft, advance booking, cancellation, refund and security issues." He said, "In this regard, the Secretary has also asked the Directorate General of Civil Aviation (DGCA) to demand an immediate report."

More than 40 Aircraft stand

One day before, Jet Airways canceled its Flights in Abu Dhabi, causing travelers to face many difficulties. Jet Airways, who is struggling for financial crisis, has not paid the arrears of its tenants, due to which the Airline is continuously shutting down its operations. The company has so far made its 40 more Aircraft. Company sources said the Airline has stopped operating 50 percent of its 123 Aircrafts. Earlier on Monday, in the same way, Jet Airways had informed the BSE that due to non-payment of the arrears of the leaseholders, they have stopped operating of their four planes.













Join  Google Pay, a payments app by Google.
Enter our Code :   59wc92
and then Get a payment.
Click here
https://g.co/payinvite/59wc92
Enter   Code  59wc92




Use PhonePe for instant bank transfers & more! Get a scratch card up to 
₹1000 on your first money transfer on 
#PhonePe. 
Use the link -













Link Buinding :::


AlfaBloggers @ Your Service with Following Work 

#Aviation Blog and SEO $500 Per Month

#Advt Your Travel Package Just for 999 /- Per Package

#Best Aviation And Pilot Training Career Counseling In India / Asia
#A1 Cabs DBA
#Blogger Training
#Books
#Career Counselor in Your Own City
#Co-Founder for Start-Ups Smart Moms To Super Boss
#Satpura Jungle Retreat Booking
#Female Enterpreneurs Start-Up
#Start-Up  Promotion Packages [Female Enterpreneurs]  
#Pilot Officer [ Non Flying ] 
 cum Pilot Training Instructor [ Ground Subjects ]
#EASA Pilot Work From Home Training
#Work From Home Training
#Investors to Fund our Start-Up Projects
#Work From Home Packages   at Aircrews Aviation Pvt Ltd  








जेट एयरवेज के अब सिर्फ 40 प्लेन उड़ रहे हैं, आगे और घट सकती है यह संख्या: DGCA

वित्तीय संकट से जूझ रही जेट एयरवेज के परिचालन पर इसका बहुत ही बुरा असर दिख रहा है। डॉरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) यानी नागर विमानन महानिदेशायल ने मंगलवार को बताया कि अभी जेट एयरवेज के सिर्फ 40 एयरक्राफ्ट ही उड़ रहे हैं।

हाइलाइट्स

DGCA के मुताबिक, फिलहाल जेट एयरवेज के सिर्फ 41 विमान ही भर रहे हैं उड़ान
DGCA ने कहा कि आने वाले हफ्तों में जेट के ऑपरेशनल एयरक्राफ्ट की संख्या और घट सकती है
जेट के मूल बेड़े में 119 विमान थे, जिसके सिर्फ एक तिहाई ही अभी ऑपरेशनल हैं
जेट एयरवेज पर एक अरब डॉलर से ज्यादा यानी करीब 7 हजार करोड़ रुपये का कर्ज


वित्तीय संकट से जूझ रही जेट एयरवेज के परिचालन पर इसका बहुत ही बुरा असर दिख रहा है। डॉरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) यानी नागर विमानन महानिदेशायल ने मंगलवार को बताया कि अभी जेट एयरवेज के सिर्फ 40 एयरक्राफ्ट ही उड़ रहे हैं जो उसके बेड़े की मूल क्षमता 120 विमानों का सिर्फ एक तिहाई है। कर्ज के बोझ तले दबी यह एयरलाइन अभी कर्जदाताओं और अपने बड़े साझेदार एतिहाद एयरवेज के साथ रेस्क्यू डील की कोशिश कर रही है।

DGCA ने एक बयान में बताया कि स्थिति गंभीर है और आने वाले हफ्तों में जेट अपने उड़ रहे विमानों की संख्या और घटा सकती है।
नकदी संकट से जूझ रही जेट एयरवेज ने सोमवार को अपने 4 और विमानों को उड़ान भरने से रोक दिया था।
पट्टे पर लिए विमानों का किराया नहीं चुकाए जाने के चलते अब उसके सिर्फ 40 विमान ही उड़ान भर रहे हैं।
इस वजह से उसकी तमाम उड़ानें रद्द हो गई हैं।

जेट एयरवेज एक अरब डॉलर (करीब 6,895 करोड़ रुपये) से भी ज्यादा के कर्ज में डूबी है।
इस वजह से वह बैंकों, सप्लायरों, पायलटों को समय पर भुगतान नहीं कर पा रही है।
इनमें से कुछ ने एयरलाइन के साथ लीज डील को खत्म कर दिया है।



विमानन कंपनी ने अपने 120 विमानों में से 65 प्रतिशत का परिचालन बंद कर दिया गया है।
जेट एयरवेज ने बीएसई को सूचित किया था कि पट्टेदारों के बकाया राशि को नहीं चुकाने की वजह से उसने अपने चार विमानों के परिचालन को बंद कर दिया है।

वित्त मंत्रालय ने जेट एयरवेज की वित्तीय स्थिति स्टेट को लेकर बैंक ऑफ इंडिया के नेतृत्व में बैंकों से नियमित जानकारी उपलब्ध कराने को कहा था। हाल के महीनों में बैंकों ने रिवाइवल प्लान के बारे में साप्ताहिक रूप से जानकारी दी है और सरकार से भी सलाह मांगी है।
 जेट के एक कर्जदाता ने कहा, 'वित्त मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी इस मुद्दे पर नियमित अपडेट चाहते हैं।'

टैक्सपेयर्स के पैसों से एक प्राइवेट सेक्टर कंपनी को दिवालिया होने से बचाने के दुलर्भ मामले में सरकार ने बैंकों से कर्ज को इक्विटी में बदलने और जेट में हिस्सेदारी लेने को कहा है। हालांकि, सूत्रों ने कहा कि यह अस्थायी होगा और जेट की स्थिति सुधरने के बाद कर्जदाता हिस्सेदारी बेच सकते हैं।
कंपनी 1 अरब डॉलर से अधिक के कर्ज के बोझ में दब चुकी है और लगातार उड़ानों को रद्द कर रही है।

बुलाई गई आपात बैठक

केंद्रीय नागर विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने मंगलवार को वरिष्ठ अधिकारियों को जेट एयरवेज द्वारा अपने विमानों को खड़ा करने (ग्राउंडिंग) के मुद्दे पर आपात बैठक बुलाने के लिए कहा है। मंत्री ने ट्वीट कर कहा, 'एमओसीए के सचिव को जेट एयरवेज के विमानों को खड़ा करने, अग्रिम बुकिंग, कैंसिलेशन, रिफंड और सुरक्षा मुद्दों को लेकर आपात बैठक बुलाने के निर्देश दिए हैं।' उन्होंने कहा, 'इस बाबत सचिव को नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) से तत्काल रिपोर्ट मांगने के लिए भी कहा है।'

40 से अधिक विमान खड़े

इससे एक दिन पहले जेट एयरवेज ने आबू धाबी में अपनी उड़ानों को रद्द कर दिया था, जिससे यात्रियों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। वित्तीय संकट से जूझ रही जेट एयरवेज ने अपने पट्टेदारों का बकाया नहीं चुकाया है, जिस वजह से विमानन कंपनी लगातार अपने विमानों का परिचालन बंद कर रही है। कंपनी ने अब तक अपने 40 से अधिक विमान खड़े कर दिए हैं। कंपनी के सूत्रों ने बताया कि विमानन कंपनी ने अपने 123 विमानों में से 50 प्रतिशत का परिचालन बंद कर दिया गया है। इससे पहले सोमवार को भी इसी तरह से जेट एयरवेज ने बीएसई को सूचित किया था कि पट्टेदारों के बकाया राशि को नहीं चुकाने की वजह से उसने अपने चार विमानों के परिचालन को बंद कर दिया है।






Pilot's Career GuideStep by Step Learn How to Become an International Airline Pilot

Author Name: Capt Shekhar Gupta  | Format: Paperback | Genre : Technology & Engineering
Delivered in 7-10 business days













#JetAirways #Ethiopian #Etihad #Jet #Airways #Naresh #Goyal #Kingfisher #Airline #Indigo #Pilots #SpiceJet #Planes #AirIndia #GoAir #roster #Meta #Tag #Building #BackLinks #Jet Airways I Ltd #Airways #Crisis #Airways #financial #turmoil #Pilots, #AMEs #Employees, #Airlines. #AeroSoft.in #Article #Submissions, #Blog #Submissions, #Social #BookMarking, #Directory #Classified #Guest #Blogging, #Yahoo #Search #Engines #Submission #Google, #Yahoo, #Bing #Directory #Submission #Jet Airways I Ltd #Airways #Crisis #Airways #financial #turmoil #Pilots, #AMEs #Employees, #Airlines. Digital Marketing Executive

Comments

Popular posts from this blog

Jet Airways India Limited Be Ready for A Bigger Crisis then Kingfisher Airline Ltd जेट एयरवेज इंडिया लिमिटेड एक बड़ा संकट के लिए तैयार रहें

Work at Home Packages at Aircrews Aviation Pvt Ltd

Apply